Acidity ke liye gharelu upay-pait ki samasya

Acidity ke liye gharelu upay-pait ki samasya

पेट में गैस का घरेलु उपाय 


Acidity, Home Remedies For Acidity, causes of acidity,  Acidity Home Remedies, Acidity Gharelu Upay, gas, Pet me Acidity, एसिडिटी, पेट में जलन, गैस, कब्ज़, सीने और पेट में जलन, खट्टी डकार, Gharelu nuskhe for Acidity
Acidity ke liye gharelu upay



आज के समय में, न केवल बड़े बजुर्ग बल्कि बच्चे और युवा भी पेट के भीतर गैस की समस्यायों से घिर रहे हैं। एसिडिटी का बनना और दोष गलत अंतर्ग्रहण की आदतों से आता है। देर रात तक खाली  पेट रहना और तला भुना भोजन करना से एसिडिटी की संभावना बढ़ती है और  यदि गैस की बीमारी का  एक लंबे समय के लिए इलाज नहीं किया जाता है, तो एक लंबी अवधि के लिए और भी गंभीर रोग  पैदा होंगे। गैस को अक्सर कुछ चीजों के साथ जोड़ा जाता है जैसे के पार्टी फ़ूड या जंक फ़ूड  जिसके कारण ये प्रॉब्लम उत्पन्न होती है गैस का बनना ,खट्टी डकारें आना, जी मचलाना आदि गैस के लक्षण है । इसलिए आज आपको कुछ  निम्नलिखित घरेलु उपाय के बारे में  अवगत कराते  हैं जिससे आप  आपको तुरंत आराम महसूस कर सकते हैं ।

दालचीनी 


दालचीनी गैस की कमी के भीतर मदद करता है। इसके लिए आप गर्म पानी में एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पिएं। यदि आप चाहें, तो आप इसमें शहद मिला सकते हैं।


अदरक 


गैस की कमी को दूर करने के लिए अदरक का सेवन करें। इसके लिए अदरक, सौंफ और इलायची को बराबर मात्रा में लें और पानी में अच्छी तरह से मिलाएं। इसमें एक चुटकी प्राकृतिक राल मिलाएं। हर दिन एक या दो बार इसे पीने से आपको राहत मिल सकती है।


लहसुन 


लहसुन में मौजूद तत्व गैस के मामले से राहत दिलाते हैं। लहसुन की कुछ कलियों को पानी में उबालें। वर्तमान में काली मिर्च पाउडर और जीरा डालें। इसे छान लें और ठंडा होने पर पी लें। लंबे समय से पहले प्रभाव की जांच करने के लिए, इसे हर दिन 2 से 3 बार लें।


हींग 


गैस होने पर हींग के साथ पानी पीने से आराम मिलता है। इसे बनाने के लिए एक गिलास गर्म पानी में एक चुटकी हींग मिलाएं और दिन में दो या तीन बार पियें। जल्द ही आपको आराम मिलेगा। हींग पीने में कठिनाई होने पर आप राख में थोड़ा सा पानी मिलाकर पेस्ट तैयार कर सकते हैं और इसे पेट पर रगड़ सकते हैं। कुछ समय बाद आपकी गैस की समस्या दूर हो जाएगी।


सौंफ 


गैस बनाने के बाद पानी को गर्म करें और इसे सौंफ के साथ मिलाएं, इससे आराम मिलता है। आप चाहें तो सौंफ की पत्तियों को चबा सकते हैं।

उपरोक्त उपाय आपको गैस की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकते हैं। 


एसिडिटी में क्या खाना चाहिए 


  • यदि आपको एसिटिक प्रॉब्लम बार बार हो रही है तो सबसे पहले अपने आहार को बदलिए। आपको अपनी डाइट में दूध ,लस्सी नारियल का पानी या गुनगुने पानी का ही सेवन करना चाहिए। 

  • हमेशा साफ़ सुथरा और पौष्टिक भोजन ही ग्रहण करे। 

  • बासी और फ़्रीज़ेड खाना ही बिमारियों की जड़ है इसलिए जितना हो सके खाना ताज़ा ही बनाये और ताज़ा ही खाये। अपनी ज़रुरत के मुताबिक ही खाना बनाये जिससे उसे फ्रिज में रखने की नौबत ही न। 

  • साबुत अनाज और साबुत दालों का इस्तेमाल ही करे। 

  • जौ , मूँग  दाल , मसूर  दाल , चने और गेहूं  का प्रयोग अधिक करें। 

एसिडिटी में इन चीज़ों से करें परहेज 


  • अपने आहार की लिस्ट में संतुलित भोजन को शामिल करें। 

  •  ठन्डे पेय पदाथों जैसे कोक ,शरबत, शराब और चाय ,काफी से परहेज करें। 

  • शाकाहार बनिए और मांसाहार को परहेज करिये। 

  • मसालेदार सब्ज़ियों से परहेज करे। 

  • जिन चीज़ों को पेट को पचने में वक़्त लगता है उसे त्याग दे जैसे के बैंगन, राजमा, शिमला मिर्च, कटहल, मटर, गोभी ,भिंडी और आलू। 

  • डिब्बाबंद भोजन से दूर रहे।


एसिडिटी के लिए व्यायाम करे 


  • सूर्यनमस्कार 

  • वज्ज्रासन 

  • सर्वांगासन 

  • अनुलोम विलोम 


कुछ परहेजों और जीवन शैली  को बदलने से आप एसिडिटी से हमेशा के लिए निजात पा सकते  है। 



गैस का घरेलु उपचार , एसिडिटी का इलाज 

Acidity ke liye gharelu upay-pait ki samasya