health benefits of safed musli in hindi |सफेद मूसली के फायदे, उपयोग और नुकसान | Safed Musli Benefits, Uses and Side Effects in Hindi


health benefits of Safed Musli in Hindi |सफेद मूसली के फायदे, उपयोग और नुकसान | Safed Musli Benefits, Uses and Side Effects in Hindi



सफेद मूसली, सफेद मूसली के फायदे, सफेद मूसली के नुकसान, white Musli in Hindi
Health benefits of Safed Musli in Hindi




सफ़ेद मुस्ली एक प्रकार की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसका उपयोग कैंसर, गठिए का रोग, मधुमेह, जोड़ो का दर्द और खासकर सेक्स वर्धक दवाओं में किया जाता है। आयुर्वेदिक हो या हर्बल दोनों में ही इसका इस्तेमाल बेशुमार होता है। पुरषों में शारीरक दुर्बलता, कमज़ोरी या सेक्स में रूचि न होना आदि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, तो आईये जानते है इसके फायदों के बारे में। 




सफ़ेद मुस्ली के फायदे



  • अगर आप थकान और कमज़ोरी से परेशान है तो इसका सेवन शक्कर के साथ करने से शरीर को अद्धभुत ताक़त का अनुभव होता है।


  • दूध के साथ इसका उपयोग वजन बढ़ाने में मदद करता है।


  • अगर पुरषों में शुक्राणुओं की संख्या कम हो तो ये उन्हें बढ़ाने में भी मदद करता है। 


  • हार्मोन प्रोफाइल में सुधर कर शुक्राणुजनन को प्रेरित करता है। 


  • गठिए में होने वाली सूजन को कम करता है। 




  • स्तनपान करने वाली महिलाओं  के लिए गुणकारी औषिधि है इससे दूध की गुणवत्ता में सुधार आता है। 


  • मानसिक स्वास्थय को सुधारकर तनाव का सामना करने में मददगार है। 


  • स्वपनदोष को दूर करता है। 


  • पेशाब में अगर जलन होती है तो इसकी जड़ को पीसकर दूध में इलायची के साथ उबालकर पीने से फायदा मिलता है। 


  • शक्तिवर्धक दवाओं में इसका इस्तेमाल उम्र के प्रभाव को कम करता है। 


  • शरीर की सुंदरता बढ़ाता है। 


  • मधुमेह और कैंसर में इसका उपयोग गुणकारी है। 


  • अगर आप भी पित्ते की पथरी से परेशान है तो इसका इस्तेमाल इन्द्रायण की जड़ के साथ करे। एक -एक चमच्च दोनों का रात भर पानी में भिगो कर रख दे और प्रतिदिन इस पानी का सेवन करे।  सात दिनों में फरक महसूस करेंगे। आपकी पथरी खुद गल जाएगी। 


ये तो थे फायदे पर इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी है आईये उनके बारे में भी जान ले। 


  • इसके इस्तेमाल से कब्ज की समस्या उत्पन्न  हो जाती है। 


  • आँखों में सूजन आने लगती है। 


  • एलर्जी होती है। 


  • जी मचलना, चक्कर आना, सांस लेने में तकलीफ, नाक का बहना आदि इसके दूर परिणाम है। 

सफ़ेद मूसली खाने का तरीका /विधि


सफ़ेद  मूसली की जड़ को पीस कर इसका पाउडर बनाया जाता है। आप इसे पाउडर या कैप्सूल के रूप में भी खा सकते है। अगर आप इसका प्रयोग सेक्सवर्धक दवा या शक्ति वर्धक शारीरक समस्याओं  के रूप में कर रहे है तो रोजाना सुबह और शाम एक एक कैप्सूल दूध के साथ ले सकते है। अगर आप इसके पाउडर का इस्तेमाल कर रहे है तो ३-५ ग्राम मात्रा में ले सकते है। 


और पढ़े सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस से बचाव 


ऊपर बताये फायदे का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर करे क्योंकि ये फायदे आयुर्वेदा पर आधारित है पर इसका उपयोग कैसे और कब करना है इसके लिए डॉक्टर की सलाह भी ज़रूरी है। अगर आर्टिकल अच्छा लगे तो शेयर करना न भूले।

health benefits of Safed Musli in Hindi | सफेद मूसली के फायदे, उपयोग और नुकसान | Safed Musli Benefits, Uses and Side Effects in Hindi